Breaking News
Home / Bollywood / आतंकवादी नहीं हूं, भाई है सलमान – संजय दत्त के 10 ‘आज़ाद’ बयान

आतंकवादी नहीं हूं, भाई है सलमान – संजय दत्त के 10 ‘आज़ाद’ बयान

मेरा नाम संजय दत्त है और मैं आतंकवादी नहीं हूं। संजय दत्त ने जेल से निकलकर पहली बार मीडिया से बात की और खुलकर अपने विचार और मन का हाल, दोनों ही मीडिया से बांटा।

संजय दत्त को 12 मार्च 1993 के मुंबई में सिलसिलेवार 13 बम विस्फोट के मामले में अवैध हथियार रखने के लिए पांच साल सश्रम कारावास की सजा सुनाई गई थी। उन्हें पहली बार 1993 में गिरफ्तार किया गया था।

18 महीने की सजा काट चुके थे। मई 2013 में अपनी बाकी बची 42 महीने की सजा काटने के लिए उन्हें जेल भेजा गया। सजा के दौरान संजय दत्त कई बार पैरोल पर बाहर भी आए। इसके चलते विवाद भी हुए। और उन्होंने आखिरकार खुलकर मीडिया से सब बातें की –

मीडिया से की गुज़ारिश

संजय दत्त ने मीडिया से गुज़ारिश करते हुए कहा कि मेरा नाम संजय दत्त है और मैं आतंकवादी नहीं हूं। मैं टाडा कोर्ड से बाइज्ज़त बरी हुआ हूं। मैं आर्म्स एक्ट में आरोपी था और उसकी सजा काट चुका हूं। जब भी मेरे बारे में कुछ बोले तो 1993 के बम धमाकों में मेरा जिक्र नहीं करे।

23 साल से इंतज़ार

मुझे सबसे ज्‍यादा राहत उस वक्‍त मिली, जब कोर्ट ने कहा कि तुम आतंकी नहीं है। मेरे पिता सारी जिंदगी यह बात सुनना चाहते थे। मैं उन्‍हें मिस किया। 23 साल से मैं बस इस दिन का इंतज़ार कर रहा था।

पत्नी को सौंप दी कमाई

मैं जेल में जो 440 रुपए कमाए वो एक अच्छा पति होने के नाते मैंने अपनी पत्नी को दे दिए। मान्यता मेरी ताकत हैं। वो बेटर हाफ नहीं, बेस्ट हाफ हैं।

इसलिए किया सलाम

मुझे भारतीय होने का गर्व है। इसलिए ही र्मैंने बाहर आने के बाद जमीन को चूमा और तिरंगे को सलाम किया। मैं हिंदुस्तान की धरती से प्यार करता हूं। वो तिरंगा मेरी जिंदगी है।

छोटा भाई सलमान

सलमान मेरा छोटा भाई है और हमेशा रहेगा मै उसके लिए हमेशा प्रार्थना करुंगा कि वह इससे बड़ा स्टार बने। जेल के भीतर गोटिया मामा, नरेंद्र भाई जैसे कई दोस्त बने वह मेरे लिए काफी बढ़कर हैं।

dutt2

नहीं मिले पैसे

अपनी बायोपिक का एक सीन मैं शूट कर चुका हूं। शूटिंग के लिए मुझे साइनिंग अमाउंट नहीं दिया गया। आजाद आदमी की तरह पर मैं अपने बच्चों और परिवार के साथ समय बिताना चाहता हूं और अपने काम को फिर से शुरु करना चाहता हूं।

कल से सोया नहीं हूं

मैंने चार दिन से कुछ खाया नहीं है और ना ही कल रात से सोया नहीं हूं। मेरे दिमाग में यही चल रहा था कि अब मैं परिवार के साथ रहूंगा और अब कभी वापस जेल नहीं आउंगा। यही सोचकर सो नहीं सका।

इसलिए कब्र पर गया

मेरी मां मुझे बहुत ही कम उम्र में छोड़कर चली गईं। यह मेरी जिम्मेदारी थी कि उन्हें बताऊं कि अब मैं आजाद हूं। इसलिए मैं उनकी कब्र पर गया।

अभी तक पैरोल पर हूं

मुझे पता है कि मुझे खुद को यह समझाने में वकत लगेगा कि मैं आजाद हो चुका हूं। लगता है कि पैरोल पर ही हूं और आज़ादी की राह वाकई इतनी आसान नहीं होती है।

 

About admin

Check Also

जिम के बाहर स्पॉट हुई मलाईका अरोड़ा, टाइट कपड़ों में लग रही थी बेहद हॉट

मलाईका अरोड़ा और अरबाज खान के तलाक के 2 साल बाद अब अर्जुन कपूर और …